0

IPL 2024 अभियान से पहले दिउड़ी मंदिर पहुंचे MS DHONI, फैंस की उमड़ी भीड़

Share

भारत के पूर्व कप्तान एमएस धोनी पांच फरवरी, सोमवार को आईपीएल 2024 सीजन से पहले माता का आशीर्वाद लेने तमाड़ के मां दिउड़ी मंदिर पहुंचे. मैदान से दूर होने के बाद से एमएस धोनी अपने आप को काफी व्यस्त रख रहे हैं. एमएस धोनी किसी भी अभियान में जाने से पहले समय निकाल कर माता का आशीर्वाद लेने के लिए देवरी मंदिर जरूर पहुंचते हैं. एमएस धोनी एक बार फिर सभी को आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के तरफ से खेलते और उस टीम का नेतृत्व करते नजर आएंगे. माना जा रहा है कि ये एमएस धोनी का आखिरी आईपीएल है. सभी दर्शक एमएस धोनी को इस साल 20224 में आखिरी बार मैदान में खेलते हुए देखेंगे.  एमएस धोनी को सोमवार को नए अभियान में जाने से पहले रांची-टाटा रोड में पाया गया. एमएस धोनी को माता का आशीर्वाद लेने के लिए रांची के करीब स्थित मां दिउड़ी मंदिर में जाते देखा गया. बता दें, एमएस धोनी की मंदिर से विशेष आस्था जुड़ी हुई है.

Table

मां दिउड़ी मंदिर में धोनी ने की पूजा

जी हां, टीम इंडिया के पूर्व कप्तान माही जब भी रांची में रहते हैं, समय निकाल कर मां दिउड़ी के दर्शन जरूर करते हैं. सोमवार को भी धौनी दिउड़ी माता की शरण में पहुंचे. मंदिर के धोनी ने विधि-विधान से पूजा की. धोनी के मंदिर परिसर पहुंचते ही प्रशंसकों की भीड़ लग गयी. धोनी ने भी हाथ हिला कर प्रशंसकों का अभिवादन किया.

रांची-टाटा हाइवे पर तमाड़ में स्थित है मां दिउड़ी मंदिर

मां दिउड़ी का मंदिर जितना पुराना है उतनी ही पुरानी है इसकी आस्था. यह मंदिर रांची से करीब 60 किलोमीटर दूर रांची-टाटा हाइवे पर स्थित है. कैप्टन कूल कहीं भी हों यहां आकर मत्था टेकना वो नहीं भूलते. बताया जाता है कि यह मंदिर करीब 700 साल पुराना है. मंदिर में 16 भुजाओं वाली माता का विग्रह है.

मां दिउड़ी मंदिर में है धोनी की गहरी आस्था

कैप्टन कूल यानी एमएस धोनी की मां दिउड़ी मंदिर में बहुत गहरी आस्था है. मान्यता है कि यह इस मंदिर में सच्चे मन से जाने वालों की इच्छा मां दिउड़ी जरूर पूरा करती है. माना जाता है कि यह मंदिर करीब 700 साल पुराना है. लेकिन मंदिर का निर्माण कब हुआ यह किसी को नहीं पता. दिउड़ी मंदिर में करीब साढ़े तीन फुट ऊंची मां की प्रतिमा है, जिनके 16 भुजाएं है. यह विग्रह देवी काली की है.

#IPL #अभयन #स #पहल #दउड #मदर #पहच #DHONI #फस #क #उमड़ #भड़