0

Kerala Blast | केरल में विस्फोट करने वाले आरोपी ने किया आत्मसमर्पण, धमाके में 2 लोगों की मौत, 51 घायल | Navabharat (नवभारत)

Share

Loading

कोच्चि. ईसाइयों के ‘यहोवा के साक्षी’ संप्रदाय का सदस्य होने का दावा करने वाले एक व्यक्ति ने रविवार सुबह यहां कलामासेरी (Kalamassery) में एक ईसाई धार्मिक सभा में हुए कई विस्फोटों की जिम्मेदारी लेते हुए सोशल मीडिया पर एक वीडियो संदेश पोस्ट किया। विभिन्न टीवी चैनलों पर प्रसारित वीडियो में खुद की पहचान मार्टिन (Martin) के रूप में बताते हुए व्यक्ति ने दावा किया कि उसने विस्फोट इसलिए किए क्योंकि संगठन की शिक्षाएं “देश के लिए सही नहीं” हैं। इस बीच, धार्मिक समूह का सदस्य होने का दावा करने वाले एक अन्य व्यक्ति ने एक टीवी चैनल को बताया कि ऐसा कोई भी व्यक्ति वर्तमान में उनके संगठन का हिस्सा नहीं है।

वीडियो संदेश में क्या बोला मार्टिन

विस्फोटों की जिम्मेदारी लेने वाले व्यक्ति ने कहा कि सभी को बम धमाकों और इसके बाद हुए गंभीर नतीजों के बारे में पता चल गया होगा। उसने वीडियो, जो अब सोशल मीडिया पर उपलब्ध नहीं है, में कहा, “वहां क्या हुआ, मुझे ठीक-ठीक पता नहीं है, लेकिन मैं जानता हूं कि यह (विस्फोट) हुआ और मैं इसकी पूरी जिम्मेदारी लेता हूं।” व्यक्ति ने कहा कि उसने लोगों को यह बताने के लिए वीडियो बनाया कि उसने यह निर्णय क्यों लिया। उसने इसे “अच्छी तरह से सोचा-समझा” निर्णय बताया। व्यक्ति ने कहा कि वह 16 साल तक ‘यहोवा के साक्षी’ ईसाई धार्मिक समूह का हिस्सा रहा है। इस संप्रदाय की स्थापना 19वीं सदी में अमेरिका में हुई थी।

मेरे पास कोई अन्य विकल्प नहीं था, इसलिए मैंने यह निर्णय लिया

व्यक्ति ने आरोप लगाया, “शुरू में, मैंने इसे गंभीरता से नहीं लिया और मजाक के तौर पर उनके साथ चला गया। लगभग छह साल पहले, मुझे एहसास हुआ कि वे एक अच्छा संगठन नहीं हैं और उनकी शिक्षाएं देश के लिए सही नहीं हैं।” उसने दावा किया कि उसने संगठन को अपनी शिक्षाओं को सही करने के लिए कई बार कहा था, लेकिन वह ऐसा करने के लिए तैयार नहीं था। व्यक्ति ने तर्क दिया, “चूंकि मेरे पास कोई अन्य विकल्प नहीं था, इसलिए मैंने यह निर्णय लिया।” उसने कहा कि संगठन और इसकी विचारधारा देश के लिए खतरनाक है तथा इसलिए, इसे समाप्त करना होगा। व्यक्ति ने कहा कि यदि कोई प्रतिक्रिया नहीं देता है, तो संगठन इस विश्वास के साथ जारी रहेगा कि उसकी विचारधारा और शिक्षाएं सही हैं। उसने कहा, “लेकिन उनकी विचारधारा गलत है। यहोवा के साक्षियों, आपकी विचारधारा गलत है। आप किसी की मदद नहीं करते या किसी का सम्मान नहीं करते। आप चाहते हैं कि आपके अलावा हर कोई नष्ट हो जाए। यही आपकी विचारधारा है।” व्यक्ति ने अपने वीडियो संदेश को समाप्त करते हुए कहा, “मैं पुलिस के सामने आत्मसमर्पण करने जा रहा हूं और मुझे ढूंढने आने की कोई जरूरत नहीं है।”

यह भी पढ़ें

मार्टिन ने पुलिस को किया आत्मसमर्पण

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (एडीजीपी) कानून-व्यवस्था एम.आर. अजित कुमार ने यहां संवाददाताओं को बताया कि विस्फोटों में एक महिला की मौत हो गई और 45 से अधिक लोग घायल हो गए, जिनमें से कुछ की हालत गंभीर है। अधिकारी ने यह भी कहा कि डोमिनिक मार्टिन नामक व्यक्ति ने त्रिशूर जिले के कोडकारा थाने में आत्मसमर्पण किया है और उसका दावा है कि उसने ही विस्फोट किया है। इससे पहले, राज्य के पुलिस प्रमुख शेख दरवेश साहेब ने तिरुवनंतपुरम में मीडिया को बताया कि प्रारंभिक जांच के अनुसार विस्फोट आईईडी के कारण हुए। उन्होंने कहा, “हम इसकी जांच कर रहे हैं।”

पुलिस ने अज्ञात व्यक्तियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) और धारा 307 (हत्या का प्रयास) के साथ-साथ विस्फोटक अधिनियम और गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के प्रावधानों के तहत प्राथमिकी दर्ज की है।

यह भी पढ़ें

दो महिलाओं की मौत 

इन धमाकों में दो महिलाओं की मौत हो गई और 51 लोग घायल हुए हैं। कुछ घायलों की हालत गंभीर है। स्वास्थ्य मंत्री वीना जॉर्ज ने कहा कि 51 घायलों में से 30 को राज्य के विभिन्न अस्पतालों में भर्ती कराया गया है और उनमें से 18 आईसीयू में हैं। मंत्री ने कहा कि 18 में से छह- जिनमें एक 12 साल का बच्चा भी शामिल है- गंभीर हालत में हैं। उन्होंने कहा कि तीन लोग 90 प्रतिशत से अधिक जल गए हैं। (एजेंसी)


#Kerala #Blast #करल #म #वसफट #करन #वल #आरप #न #कय #आतमसमरपण #धमक #म #लग #क #मत #घयल #Navabharat #नवभरत