0

‘युवा नौकरी को भटक रहे, मोदी मित्र के संरक्षण में 30 अरबपति लूट रहे संसाधन’, ओडिशा से राहुल का प्रहार

Share

Rahul Gandhi Nyay Yatra in Odisha : कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा की अगुवाई कर रहे राहुल गांधी फिलहाल ओडिशा में हैं. यहां बुधवार (7 फरवरी) को उन्होंने एक साथ पीएम नरेंद्र मोदी और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक पर हमला बोला है.‌राहुल गांधी ने दावा किया है की उड़ीसा के लाखों युवक बेरोजगार हैं और नौकरी के लिए भटक रहे हैं.
 उन्होंने नवीन पटनायक सरकार पर उद्योग जगत को संरक्षण देने का आरोप लगाया है. इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस की सरकार बनने पर रोजगार सृजन का वादा किया है. 

क्या कहना है राहुल गांधी का?
सूबे में मैजूद अपनी यात्रा को लेकर राहुल गांधी ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट एक्स पर एक पोस्ट किया,  इसमें उन्होंने लिखा, ‌बेरोजगारी की बीमारी देश भर में फैल रही है और हर प्रदेश इस बीमारी से बुरी तरह पीड़ित है. ओडिशा के आंकड़े देखिए – 40% युवा पढ़ाई और कमाई से दूर हैं, एक लाख से अधिक सरकारी पद खाली हैं और लाखों युवा नौकरी की तलाश में हैं.’

नवीन पटनायक मोदी के मित्र’
उन्होंने कहा है कि ओडिशा के 30 लाख से अधिक युवा नौकरी के लिए अन्य राज्यों में भटक रहे हैं और मोदी मित्र नवीन पटनायक के संरक्षण में बाहर से आये 30 अरबपति उद्योगपति राज्य के संसाधनों को लूट रहे हैं.
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि Rail, SAIL, पोर्ट, एयरपोर्ट समेत कांग्रेस द्वारा बनाए गए देश के बड़े PSUs आज मोदी की ‘मित्र नीति’ से बेचे जा रहे हैं.
हमारी प्राथमिकता है GST में सुधार कर छोटे उद्योगों के लिए एक नया आर्थिक मॉडल तैयार करना, अंधे निजीकरण को रोकना, PSUs को फिर से जीवित करना और खाली पड़े सरकारी पदों को भरना.
कांग्रेस का यही विज़न ओडिशा समेत पूरे देश में रोजगार पैदा कर सकता है.”

 

नफरत और अन्याय के खिलाफ है भारत जोड़ो यात्रा’

बता दें कि राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा मंगलवार (6 फरवरी) को ओडिशा पहुंची थी. पहले दिन कांग्रेस नेता गांधी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि वह यात्रा के दौरान सात से आठ घंटे तक लोगों की बात सुन रहे हैं और हर दिन 15 मिनट तक उन्हें संबोधित कर रहे हैं. राहुल ने कहा कि लोगों को न्याय दिलाने के लिए उन्होंने यह यात्रा शुरू की है. राहुल गांधी ने कहा कि देश को एकजुट करने के लिए भारत जोड़ो यात्रा के पहले संस्करण 2022-23 के तहत कन्याकुमारी से कश्मीर के बीच लगभग 4,000 किलोमीटर की दूरी तय की गई थी और यह यात्रा “नफरत व अन्याय” के खिलाफ है. उन्होंने कहा, यह सफल रही क्योंकि लाखों लोगों ने यात्रा में भाग लिया. गांधी ने कहा, “हालांकि, झारखंड, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर भारत के राज्यों के लोगों ने मुझसे कहा कि उनके राज्य से यात्रा नहीं गुजरी.”

ये भी पढ़ें:Battle for NCP: अजित पवार गुट ने कैविएट दाखिल किया, सुप्रीम कोर्ट पहुंची NCP के नाम और चुनाव चिन्ह की लड़ाई


#यव #नकर #क #भटक #रह #मद #मतर #क #सरकषण #म #अरबपत #लट #रह #ससधन #ओडश #स #रहल #क #परहर